Saturday , August 24 2019

रॉबर्ट वाड्रा का PM मोदी पर तंज, शीशे के घर में रहने वाले दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई प्रहलाद मोदी को पुलिस की ओर से एस्कार्ट मुहैया नहीं कराए जाने से नाराज होकर जयपुर के बगरू थाने के बाहर धरने पर बैठने की घटना के एक दिन बाद प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा ने फेसबुक के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला किया और तंज कसा कि जो लोग शीशे के घरों में रहते हैं वह दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकते.

रॉबर्ट वाड्रा ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि जो लोग शीशे के घरों में रहते हैं वह दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकते. यही बात हमारे प्रधानमंत्री पर भी लागू होनी चाहिए जो आए दिन दूसरों पर महत्वपूर्ण होने का तंज कसते रहते हैं. क्या यही अच्छे दिन हैं जो उनके भाई स्वयं अपने आप को एस्कॉर्ट गाड़ी दिलाने के लिए धरने पर बैठे हैं?

उन्होंने आगे कहा कि मेरी सुरक्षा आधी कर दी गई जबकि मुझे हर तरफ से खतरा बताया जाता था. मुझे वह समय भी याद है जब मेरी मां की सुरक्षा में दिए गए 2 सुरक्षाकर्मी भी बिल्कुल हटा लिए गए, जबकि उनके घर के बाहर लोगों का तांता लगा रहता है जो किसी न किसी कारणवश मिलना चाहते हैं. इसमें किसी भी प्रकार के लोग हो सकते हैं. लेकिन हमने सम्मानपूर्वक सरकार के इस फैसले को माना.

रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि आज प्रधानमंत्री जी के भाई इस बात पर धरने पर बैठे हैं कि उन्हें एस्कॉर्ट गाड़ी चाहिए. यह कितना उचित है? क्या यह नामदार है या कामदार? प्रधानमंत्री जी इन्हीं अच्छे दिनों की चर्चा किया करते थे? क्या आज प्रधानमंत्री जी नहीं कहेंगे बहुत हुआ?

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा ने फेसबुक के जरिए यह टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई प्रहलाद मोदी के मंगलवार को पुलिस द्वारा एस्कार्ट मुहैया नहीं कराए जाने से नाराज होकर जयपुर के बगरू थाने के बाहर धरने पर बैठने की खबर आने के बाद की. हालांकि लगभग एक घंटे बाद समझाने बुझाने पर वह अपनी यात्रा पर आगे रवाना हो गए.

pra_051519031913.jpg

प्रहलाद मोदी मंगलवार रात जयपुर-अजमेर राष्ट्रीय राजमार्ग से यात्रा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने पुलिस से एस्कार्ट की मांग की. एस्कार्ट की मांग पूरी नहीं होने से नाराज होकर वह बगरू पुलिस थाने के सामने धरने पर बैठ गए. प्रहलाद का कहना था कि पुलिस उन्हें एस्कार्ट नहीं दे रही.

इस पूरे विवाद पर जयपुर के पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव ने बताया, ‘प्रहलाद मोदी सड़क मार्ग से जयपुर आ रहे थे और इसके लिए उन्होंने एस्कार्ट की मांग की जिसके लिए वह पात्र नहीं थे. हमारे पास उनको दो पीएसओ उपलब्ध कराने के आदेश थे जो पहले से ही बगरू थाने में मौजूद थे ताकि उनके साथ आगे जा सकें. लेकिन प्रहलाद मोदी उन्हें अपने वाहन में ले जाने को तैयार नहीं थे और अलग पुलिस वाहन की मांग कर रहे थे.’

उन्होंने आगे कहा कि प्रहलाद मोदी बाद में हमारी बात को समझ गए और नियमों के तहत उन्हें दो पीएसओ उपलब्ध करवाए गए. हालांकि यह पूरा घटनाक्रम करीब एक घंटे तक चला.

 

 

About Voice of Muslim

SUPPORT US

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com