Saturday , September 21 2019

पैग़म्बर मुहम्मद (स.अ.व.) ने फरमाया – रमज़ान के महीने में जिसने भी ये गु’नाह किया वो बर्बाद हो जायेगा

मेरे प्यारे इस्लामी दोस्तों ,अस्सलामु आलैकुम। अभी इस्लामिक माह का सबसे मअफ़ज़ल महिनों में से एक रमज़ान का मुकदस्स महिना चल रहा है। इस महीने में दुनियाभर के मोमिन रोज़ा रखते है, खूब ईबादते करते है, अल्लाह तबारक व तआला से म गफिरत माँगते है और तराविह पढ़ने जैसे कई अहम् काम को अंजाम देते है। इस महीने में हर चीज का सवाब बढ़ जाता है नमाज़ से लेकर ज़कात तक मुसलमान खूब नेकी कमाता है। लेकिन आज हम अपने मुआशरे में देख रहे है कि कुछ मुसलमान इन चीजों से दूर हो रहे है, इसके लिए उनके पास ढ़ेर सारे बहाने होते है।

प्यारे इस्लामी दोस्तों हमारे नबी हजरत मोहम्मद सल्लाहू अलैही वसल्लम ने रमज़ान के मुताल्लिक हदीस बयान की है। हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लाहू अलैही वसल्लम ने फरमाया कि जिस शख्स ने रमज़ान मुबारक के महिने में ये दो काम किए वह त’बाह और ब’र्बाद हो जाए। हजरत उम्मे हानि रजि अल्लाह ताअला अन्हू से रिवायत है कि पैगम्बर मोहम्मद सल्लाहू अलैही वसल्ल्म ने इरशाद फरमाया कि मेरी उम्मत तब तक रु सवा नहीं होगी जब तक वह रमज़ान के मुकद्दस महीने की हक अदा करती रहेगी।

सहाबा रजी अल्लाह तआला अन्हो ने अर्ज किया या रसूलुल्लाह सल्लाहू अलैही वसल्लम उनका रमज़ान मुबारक का हक जाया करने और रु सवा होने से क्या मतलब है? तो नबी ए करीम सल्लाहू अलैही वसल्लम ने सहाबी करीम से इरशाद फरमाते हुए कहा कि रमज़ान के मुकद्दस महीने में ह’राम काम करने वाले यानी कि जो लोग इस पाक महीने में ह’राम काम करने लगे तो इसका मतलब यह है कि यह लोग रमज़ान के मुकद्दस महीने की हक अदा नहीं कर रहे है। इसी हालात में यह लोग ज’लील होगे और रु’सवा भी होगें।

इसके साथ ही हजरत मोहम्मद सल्लाहू अलैही वसल्लम ने इरशाद फरमाया कि जिस शख्स ने रमजान के मुक्द्दस महीने में जि’ना़ किया या श’राब पिया तो ऐसा करने वाले शख्स के लिए फरिश्ते और अ ल्लाह त आला अगले रमज़ान तक उस पर ला’नत भेजते रहते हैं। तो प्यारे इस्लामी भाईयों और बहनों हम लोगों को रमज़ान के इस पाक महीनें को किसी तरह ज़ाया नहीं करना चाहिए। खूब ईबादते की जाए. बू’रे कामों से ,गी’बत से बचा जाए।

प्यारे भाईयों इस तरह के गुनाह से अल्लाह तबारक व तआला और फरिश्ते अगले रमजान तक लानत भेजते रहेगे तो ज़रा गौर करों भाईयों, बहनों कि इस तरह जब फरिश्ते ला’नत भेजेगें तो तमाम ईबादते बर्बाद हो जाएगी। हम लोगों को चाहिए कि हमें दूसरों को भी ऐसे काम नहीं करने से रोकने के लिए बताना चाहिए। अव्वल हमें खुद इससे सबक लेकर बूरे कामों पर पूरी तरह पा’बन्दी लगा दे नी चाहिए।

About Voice of Muslim

SUPPORT US

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com