Thursday , June 20 2019

जेट एयरवेज के कर्मचारियों की हालत ख़राब, सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के बाहर किया प्रदर्शन

जेट एयरवेज के कर्मचारियों की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। इस बीच, जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने मंगलवार को एक बार फिर विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान कंपनी के कर्मचारियों ने सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के बाहर नारेबाजी की।

जेट कर्मचारियों का कहना है कि उनकी हालत लगातार खराब होती जा रही है। कर्मचारियों के मुताबिक उन्‍हें करीब 5 महीने से सैलेरी तक नहीं मिली है। ऐसे में उन्‍हें बच्चों की पढ़ाई, राशन, घर का किराया देने तक की दिक्कतें आ रही हैं। हालांकि प्रदर्शन के बाद जेट एयरवेज के कर्मचारियों के प्रतिनिधियों को मंत्रालय के अंदर बुलाया गया। इसके साथ ही आश्‍वासन दिया गया कि सरकार जल्द ही कर्मचारियों के हित के लिए ठोस कदम उठाएगी।

हाल ही में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के अध्यक्ष रजनीश कुमार ने इस बात के संकेत दिए थे कि आने वाले दिनों में जेट एयरवेज के भविष्‍य को लेकर इसी हफ्ते बड़ा फैसला हो सकता है। दरअसल, कर्जदाता होने की वजह से एसबीआई की अगुवाई में बैंकों के समूह के पास जेट एयरवेज का कंट्रोल है।

बता दें कि जेट एयरवेज पर करीब 8,400 करोड़ रुपये का कर्ज है। इस कर्ज की वसूली के लिए बैंकों के समूह ने  एयरलाइन को बेचने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस नीलामी की प्रक्रिया में हिस्‍सा लेने के लिए प्राइवेट इक्विटी फर्म टीपीजी कैपिटल, इंडिगो पाटर्नर्स, नेशनल इन्वेस्टमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड (एनआईआईएफ) और एतिहाद एयरवेज की संक्षिप्त सूची बनाई गई थी। इन कंपनियों ने अपने एक्सप्रेशन ऑफ इंटेरेस्ट (ईओआई) पेश किए लेकिन अंतिम तिथि 10 मई को सिर्फ एतिहाद ने अपनी निविदा की पेशकश की।

About Voice of Muslim

SUPPORT US

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com