Saturday , September 21 2019

कठुआ केस में दोषी सांजी राम की बेटी और प्रवेश कुमार की मां ने फैसले पर क्या कहा?

 

कठुआ में जनवरी 2018 में 8 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप के बाद हत्या हुई. मामले में 8 लोगों की गिरफ्तारी हुई. लगभग डेढ़ साल केस चला, फिर अदालत का फैसला आया. पठानकोट की एक अदालत ने फैसला सुनाते हुए 6 लोगों को दोषी करार दिया, एक को बरी कर दिया जबकि एक नाबालिग का ट्राएल चल रहा है. वारदात के तीन दोषी सांजी राम, दीपक खजूरिया और प्रवेश कुमार को उम्र कैद की सज़ा मिली. तीन लोग आनंद दत्ता, तिलक राज और सुरेंद्र को सबूत छिपाने के आरोप में दोषी पाए जाने पर 5-5 साल की कैद की सज़ा मिली. जबकि सबूतों के अभाव में विशाल जंगोत्रा को बरी कर दिया गया. विशाल जंगोत्रा सांजी राम का ही बेटा है.

कोर्ट से आरोप मुक्त होने के बाद विशाल जंगोत्रा के परिवार की तरफ से सांजी राम के फैसले पर भी टिप्पणी आई. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक सांजी राम की पत्नी दार्शना और बेटी मोनिका विशाल जंगोत्रा के ही रिहा होने पर खुद को तसल्ली देने की कोशिश की. क्योंकि इस मामले में एक ही परिवार के दो लोग आरोपी थे. विशाल जंगोत्रा के आरोप मुक्त होने पर मोनिका ने कहा:

जब विशाल के खिलाफ कोई सबूत ही नहीं था, तब सांजी राम किसके लिए इसमें शामिल होंगे. अदालत को उन्हें भी बरी कर देना चाहिए था.

2017 में रिटायरमेंट के बाद सांजी राम जम्मू में ही था. रिटायरमेंट के बाद उसने अपने घर के पास एक हॉल बनवाया था. उसी हॉल के पास वो बैठा करता था. सांजी राम के दो बेटे और बेटियां हैं. दोनो बेटिंयों की शादी हो चुकी है. सांजी राम का बड़ा बेटा नौसेना में है, वहीं दूसरा बेटा विशाल जंगोत्रा है जो इसी मामले में कोर्ट से बरी हुआ है. दूसरी तरफ प्रवेश कुमार के दोषी साबित होने पर उसकी मां तृषला देवी का भी बयान आया. फैसले के बाद अपने घर में रोते हुए उन्होंने कहा:

क्राइम ब्रांच वाले चाहते थे कि वह दूसरे आरोपियों के खिलाफ एक गवाह बन जाए, लेकिन उसने उनके खिलाफ गलत बयान देने से इनकार कर दिया. इसलिए उन्होंने बेटे को फंसा दिया.

About Voice of Muslim

SUPPORT US

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com