Saturday , August 24 2019

कानून बनने के बाद दिल्ली में तीन तलाक का पहला मामला, पति गिरफ्तार

दिल्ली में तीन बार तलाक कहकर बीवी और बेटे को घर से निकालने का मामला सामने आया है। पुलिस ने कल द मुस्लिम विमिन (प्रटेक्शन ऑफ राइट ऑन मैरिज) ऐक्ट के सेक्शन 4 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है। महिला ने पुलिस से मदद की गुहार लगाई थी। नए कानून के तहत ट्रिपल तलाक के अपराध होने के बाद दिल्ली में रिपोर्ट होने वाला यह पहला मामला है। पत्नी ने पति को दहेज लोभी बताया है।

बाड़ा हिंदूराव पुलिस के पास महिला ने यह शिकायत दी है। पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। नॉर्थ डीसीपी नूपुर प्रसाद ने बताया कि आरोपी ने जून में महिला को तीन तलाक दिया था। रायमा याहिया ने 2011 के नवंबर में अतीर शमीम से शादी की थी। अतीर आजाद मार्केट में रहता था। शादी के बाद रायमा ने बेटे को जन्म दिया, लेकिन रायमा के लिए ससुराल में हालात खराब होने लगे।

आरोप है कि दहेज लोभी पति रायमा को दहेज लाने के लिए प्रताड़ित करने लगा। घर बचाने के लिए रायमा हर दर्द सहती रही। महीनों-सालों तक पति की बर्बरता सहने के बावजूद वह चुप रही, लेकिन 2019 की 30 जून को अतीर ने शरीयत कानून की आड़ में रायमा की जिंदगी बर्बाद कर दी। आरोपी ने रायमा को तीन बार तलाक बोल कर उससे पिंड छुड़ा लिया। आरोपी ने तीन बार कहा कि मैं तुझे तलाक देता हूं। फिर रायता को बच्चे के साथ घर से निकाल दिया।

बेबस रायमा बच्चे के साथ मां-पिता के घर पर आई, लेकिन वहां भी उसको नाउम्मीदी दिखी। उसके माता-पिता विदेश गए हुए थे। किसी तरह उसने दो दिन काटे, लेकिन दो दिन बाद अतीर शमीम ने रायमा के भाई को वॉट्सऐप पर फतवा भेज दिया। लिखा था कि रायमा के साथ ट्रिपल तलाक हो चुका है और अब अतीर का उससे कोई संबंध नहीं है। रायमा ने पुलिस को बताया कि अतीर ने उसको बेटे सहित घर से निकाल दिया। कुछ भी साथ नहीं लाने दिया। यहां तक कि उसकी मेहर भी नहीं दी जा रही। पुलिस से रायमा ने गुहार लगाई है कि उसके और बेटे के रख-रखाव के लिए अतीर से मुआवजा तय करवाया जाए। बता दें कि दिल्ली में ट्रिपल तलाक का यह पहला मामला संज्ञान में आया है, जिसमें पुलिस ने पति को गिरफ्तार किया है।

About Voice of Muslim

SUPPORT US

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com