Wednesday , October 16 2019

नुसरत जहाँ के मुद्दे पर बंटे मौलाना

देवबंद. उत्तर प्रदेश के देवबंद के प्रसिद्ध आलिम-ए-दीन-कारी इसहाक गोरा तृणमूल कांग्रेस की सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहां  के समर्थन में उतर आए हैं. इसहाक गोरा ने नुसरत जहां का समर्थन करते हुए कहा है कि शरीयत  किसी की निजी जिंदगी में दखलअंदाजी करने की इजाजत नहीं देती है. ऐसे में नुसरत जहां के व्यक्तिगत जिन्दगी के बार में किसी को हस्तेक्षप करने का हक नहीं है.

उनका कहना है कि सांसद नुसरत जहां ने पति निखिल जैन और उनके परिवार के साथ हिंदू परंपराओं को निभाया है. इसको लेकर कुछ लोग उन पर सवाल खड़े कर रहे हैं. साथ ही कह रहे हैं कि उन्हें अपना नाम बदल लेना चाहिए. इसहाक गोरा ने कहा कि शरीयत किसी की निजी जिंदगी में दखलअंदाजी की इजाजत कतई नहीं देती है. यह नुसरत जहां और अल्लाह के बीच का मामला है. उसमें किसी को मशवरा देने का कोई हक नहीं है. साथ ही उन्होंने कहा कि जो लोग उन्हें नाम बदलने की सलाह दे रहे हैं, तो उन्हें मैं बता दूं कि शरीयत इसकी इजाजत हरगिज नहीं देती है.

बता दें कि कोलकता में नुरसत जहां ने अपने पति के साथ पूजा पंडाल में ड्रॉम बचाया था और पूजा की थी. तब नुसरत जहां से नाराज दारूल उलूम देवबंद से जुड़े मुफ्ती असद कासमी ने टीवी समाचार चैनलों से कहा था कि हिन्दू देवी-देवताओंकी पूजा करना उनके लिए नई बात नहीं है. वे पहले भी कई बार पूजा कर चुकी हैं. जबकि इस्लाम में मुसलमानों को सिर्फ ‘अल्लाह’ की इबादत करने का आदेश है. उन्होंने जो किया वह हराम (पाप) है. उन्होंने अपने धर्म से बाहर शादी की है. उन्हें अपना नाम और धर्म बदल लेना चाहिए. इस्लाम में ऐसे लोगों की जरूरत नहीं है जो मुस्लिम नाम रखें और इस्लाम और मुसलमानों को बदनाम करें.’

About Voice of Muslim

SUPPORT US

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com