Wednesday , October 16 2019

गले की फांस बन रहा पुष्पेंद्र एनकाउंटर

झांसी जिले में 6 अक्टूबर के तड़के चार बजे पुष्पेंद्र यादव नाम के युवक के एनकाउंटर  से पूरे प्रदेश में कोहराम मचा हुआ है. पुलिस-प्रशासन के लिए पुष्पेन्द्र यादव का कथित एनकाउंटर गले की फांस बन गया है. परिजन शव को लेने से इनकार करते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज करने पर अड़े हैं. उनका कहना है कि लाश सड़ती है तो सड़ने दो, पर आरोपियों के ऊपर एफआईआर दर्ज होनी चाहिए. उधर सपा के पूर्व दिग्गज नेता शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य यादव आज मृतक के घर पीड़ितों से मिलने जाएंग.बता दें कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव 9 अक्टूबर को पुष्पेंद्र यादव के घर पर जाकर पीड़ित परिजनों से मुलाकात करने वाले हैं. ऐसे में अखिलेश यादव के मृतक पुष्पेंद्र के गांव में आने की खबर से पुलिस-प्रशासन के हाथ- पांव फुल गए हैं. वहीं, झांसी पुलिस प्रशासन थोड़ी सख्ती दिखाते हुए मृतक पुष्पेंद्र यादव का अंतिम संस्कार करने की कोशिश की तो उनको ग्रामीणों के गुस्से का सामना करना पड़ा. इसके बाद प्रशासन बैकफुट पर आ गया.सूत्रों की मानें तो पुष्पेंद्र की लाश को झांसी लाया जा रहा है, ताकि सुरक्षित रखा जा सके. पुष्पेंद्र की पत्नी शिवांगी की हालत बिगड़ गई है. उधर महिलाओं में भी आक्रोश है. मृतकपुष्पेंद्र यादव की पत्नी शिवांगी की रोते-रोते हालत खराब होती जा रही है. वह बार-बार बेसुध होकर न्याय की गुहार लगाते हुए आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग कर रही है. शिवांगी का कहा है कि घटना के दिन आठ बजे उसकी पति से फोन पर बात हुई थी. उसे क्या पता था कि वो अपने पति से आखिरी बार बात कर रही है. इधर, पुष्पेन्द्र काण्ड के विरोध में कांग्रेस, बसपा और आप भी उठ खड़ी हुई है. सभी ने एक सुर में इस मामले की जांच सीबीआई से करने की मांग की है.

About Voice of Muslim

SUPPORT US

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com