Wednesday , October 21 2020

LITERATURE

सुबह सवेरे सूरज निकला

सुबह सवेरे सूरज निकला चिड़िया बोली, और दिन निकला राजा ने आंखें मली, और मुंह खोला, सोने का समय हुआ, दिन बीता रात हुई रानी बोली अभी तो  अंधेरे की शुरुआत हुई, मंत्री बोले महाराज अभूतपूर्व यह बात हुई। नगाड़ा बजा रात का ऐलान हुआ यह देख मुर्गा बड़ा परेशान …

Read More »

कौन थे गुलाम रसूल गलवान जिनके नाम पर है गलवान घाटी?

साल 1962 से लेकर 1975 तक भारत और चीन के बीच टकराव का मुख्य बिंदु गलवान घाटी रही है। गलवान घाटी पूर्वी लद्धाख में अक्साई चीन के इलाके में है। चीन वर्षों से इस पर पूरी बेशर्मी से अपना दावा जताता है। मई के पहले सप्ताह से ही इलाके में …

Read More »

मजदूर की हाय

उपेक्षा की बला कभी टाली नहीं जातीगरीबों की हाय कभी खाली नहीं जाती स्वदेसी होकर जीया जो स्वदेस के लियेआज परदेसी हो गया वही देश के लिये घोषणाओं से कभी बदहाली नहीं जातीआँसुओ से मुसीबत संभाली नहीं जाती हो गयी हैं रक्त से रंजीत सड़कें बिरानीकैसे कहूँ दर्द से भरी …

Read More »

रोज़ा कैसे रखती होगी

अब तलक तो वो भी, सेहरी कर चुकी होगी! दिल बेचैन हुआ जाता है, रोज़ा कैसे रखती होगी! धूप की तपिश ऐसी, प्यास को डाँटती होगी! अकेले तन्हा भला वो, वक़्त कैसे काटती होगी! ख़ुश्क लब जब होते होंगे, मेरे लबों को सोचती होगी! याद जब भी आती हो मेरी, …

Read More »

जामिया में 1 जुलाई से होगी फाइनल ईयर की परीक्षा

जामिया मिल्लिया इस्लामिया में फाइनल ईयर के छात्रों की परीक्षा एक से 31 जुलाई के बीच ऑफ लाइन आयोजित होगी। विश्वविद्यालय में आगामी सत्र में दाखिले के लिए 31 मई तक ऑनलाइन आवेदन पत्र भर सकेंगे। दाखिला प्रवेश परीक्षा एक अगस्त से शुरू होंगी। विश्वविद्यालय की एकेडमिक काउंसिल की बैठक बुधवार …

Read More »

उर्दू साहित्य अकादमी के सर्वोच्च पुरस्कार से नवाजे गए शायर मखमूर सईदी

जिन्दगी के पेचोखम सुलझाने का सबक है मख़मूर की शायरी उर्दू अदब में मखमूर सईदी की गिनती आधुनिक शायरी के आलमी शायरों मे शुमार है। उनकी तुलना अक्सर अली सरदार जाफरी, कैफी आजमी, बशीर बद्र और अहमद फराज के साथ की जाती है। देश के गिने- चुने मुशायरों में उनकी …

Read More »

इबादत और रोज़ों का महीना रमज़ान के बरी में जानिए

रमज़ान का सबसे पहला सवाल तो ये ही होता है कि ये शुरू कब से हो रहा है. क्योंकि रमज़ान की शुरुआत चांद देखने की बाद होती है. रमज़ान मुस्लिम कैलेंडर का नौवां महीना होता है. जो ईद-उल-फ़ित्र से ठीक पहले वाला महीना होता है. ये वही ईद है जिसपर …

Read More »

कोरोना की जमीनी हकीकत – जरूर पढ़ें

हालात कितने भयावह हैं और मोदी सरकार ने महामारी से बचाने के लिये क्या प्रबंध किये हैं, पढ़िये और सोच कर देखिये कि आपसे ताली-थाली पिटवा कर, आपको उल्लू बना कर आपकी जान की क्या क़ीमत रखी है मोदी जी ने। कामना कीजिये कि आपको या आपके किसी परिचित को …

Read More »

बच्चा हूँ शायद पुलिस मुझे नही मारेगी और मारेगी तो भी क्या हुआ दो पैसे तो मिलेंगे

एक पेड़ के नीछे छांव में रुका हुआ था कि ये छोटा बच्चा दिखा मुझे! बुलाकर नाम पूछा तो बताया कि इमरान नाम है, पकौड़े बेच रहा हूँ गली गली घूम कर, इसके बाप बीमार हैं कई वर्षों से अम्मी मजदूरी करके परिवार चलाती थीं लेकिन lockdown की वजह से …

Read More »

एक काफ़िर ही है जो उसने हम सबको मुसलमान कहा!

“अल्लामा इकबाल” ने तकरीबन 80 साल पहले लीखी ये बात कितनी सच है……. कल मज़हब पूछकर जिसने बख्श दी थी जान मेरी… आज फिरका पूछकर उसने ही ले ली जान मेरी! मत करो रफादेन पर इतनी बहस मुसलमानों… नमाज़ तो उनकी भी हो जाती है जिनके हाथ नही होते! तुम …

Read More »
SUPPORT US

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com